छत्तीसगढ़ बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना होगी शुरु, अखाड़े को पुनर्जीवित किया जाएगा

छत्तीसगढ़ बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना – छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा राज्य में दुबारा से अखाड़े को शुरू करने और अखाड़े की स्थिति में सुधार करने के लिए प्रोत्साहन योजना को शुरू किया गया है।

सरकार द्वारा शुरू इस योजना से पहलवानो की प्रतिभा को और अधिक बढ़ावा दिया जाएगा, तथा उसमे सुधार किया जाएगा। राज्य में इस योजना का शुभारम्भ नाग पंचमी के शुभ अवसर पर किया गया है।

 

राज्य में योजना के माध्यम से परम्परागत खेलो को प्रोत्साहन दिया जाएगा, तथा खिलाडियों को अखाडा खेलने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

पहलवानो के अखाडा लड़ने के लिए एक अच्छा वातावरण तैयार किया जाएगा, इसके माध्यम से प्रतिभाशील खिलाडियों को राष्ट्रीय मंच पर लेकर आया जाएगा, और उनके खेल में सुधार किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना होगी शुरु, अखाड़े को पुनर्जीवित किया जाएगा
छत्तीसगढ़ बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना : Chhattisgarh Bajrangbali Arena Promotion Scheme

छत्तीसगढ़ राज्य में कुश्ती खेल को बढ़ावा देने के लिए राज्य स्तर पर कुश्ती अकादमी खेली जाएगी, यदि आप छत्तीसगढ़ राज्य के निवासी है। और कुश्ती खेलने के शौक़ीन है, तो हमारे आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

 

हमारे द्वारा आर्टिकल में योजना से सम्बंधित सभी जानकारी विस्तारपूर्वक दी गयी है, अखाडा प्रोत्साहन योजना क्या है, इसके क्या लाभ है, आदि।

Table of Contents

 

बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना

छत्तीसगढ़ राज्य के वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा नाग पंचमी के शुभ अवसर पर पहलवानों की प्रतिभाओं को और अधिक निखारने के लिए प्रोत्साहन योजना शुरू की गयी है।

 

योजना को शुरू करने के बाद छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में कुश्ती अकादमी का शुभारम्भ किया जाएगा, जिसके अंतर्गत पहलवानो को ट्रेनिंग दी जाएगी, और राष्ट्रीय स्तर पर कुश्ती खेलने का अभ्यास करवाया जाएगा।

जैसे की हम सभी जानते है, भारत में कुश्ती एक परम्परागत खेल है, इस योजना के माध्यम से कुश्ती को राज्य में दुबारा से पुनर्जीवित किया जाएगा। तथा बनाए गए इस कुश्ती अकादमी में पहलवानो की कुश्ती को देखने का मौका आम जनता को फिर से मिलेगा।

खिलाडियों को उनकी प्रतिस्पर्धा के हिसाब से अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक पहुँचाया जाएगा, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार आएगा। और खिलाडियों को कुश्ती खेलने का सपना भी पूरा करने को मौका मिलेगा।

बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना मुख्य बिंदु

योजना का नाम बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना
शुभारम्भ छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा
उद्देश्य अखाड़े को पुनर्जीवित करना तथा उसको आगे बढ़ाना
लाभार्थी अखाड़े के पहलवान
सम्बंधित राज्य छत्तीसगढ़
आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन
राज्य की ऑफिसियल वेबसाइट  

बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना का उद्देश्य

राज्य सरकार का योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में फिर से पहले की तरह अखाड़े को पुनर्जीवित करना है। तथा अखाड़े के लिए एक सूंदर वातावरण तैयार करना है, इसके माध्यम से खिलाडियों की प्रतिसपर्धा को बढ़ावा मिलेगा।

और खिलाडियों का अखाड़े की तरफ अधिक ध्यान आकर्षित होगा, जिससे वो दुबारा से खेलना शुरू कर सकेंगे और अपने खेल में और अधिक सुधार करने में सक्षम बनेंगे।

पहले के समय को कुश्ती खेल को अधिक महत्व दिया जाता था, परन्तु बीतते समय के साथ लोग कुश्ती को भूलते जा रहें है। इसकी वजह से ही मुख्यमंत्री ने इस योजना को शुरू करने का निर्णय लिया है।

राज्य के लोगों को उनके द्वारा किये गए अच्छे प्रदर्शन के लिए इनाम मिलेगा, जिससे उनका प्रोत्साहन खेल की तरफ और अधिक बढ़ेगा। तथा प्रतिभशील पहलवान अंतर्राष्ट्रीय मंच पर अपना हुनर दिखा सकेंगे।

अगले वर्ष नाग पंचमी पर पहलवान मचाएंगे धूम

जैसे की छत्तीसगढ़ राज्य नाग पंचमी के शुभ अवसर को अक्सर कुश्ती के लिए ही जाना जाता है, लेकिन बदलते समय के साथ कुश्ती खेल पीछे होता जा रहा है, अब राज्य में कुछ ही जगह ऐसी बची है, जहाँ कुश्ती के दंगल आयोजित किये जाते है।

परन्तु अगले वर्ष से नाग पंचमी के अवसर पर एक बड़े स्तर पर कुश्ती का आयोजन किया जाएगा, और पहलवानो को आगे आने का मौका दिया जाएगा। अगले वर्ष अखाड़े में पहलवान मचांएगे धूम और दर्शको को भी आनदं आएगा।

बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना के लाभ तथा विषेशताएं

  • छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री जी के द्वारा अखाडा प्रोत्साहन योजना को शुरू किया गया है।

  • छत्तीसगढ़ की राजधानी में पहलवान खिलाडियों के लिए राज्य स्तर पर कुश्ती अकादमी खोली जाएगी।

  • राज्य के कुश्ती खिलाडियों को उनकी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा।

  • राज्य में योजना के माध्यम से खेल को दुबारा से जीवित किया जाएगा।

  • योजना के शुरू होने से राज्य में फिर से अखाड़े का संरक्षण और संवर्धन किया जाएगा।

  • प्रतिभाशील खिलाडियों को और निखारा जाएगा, तथा उनको आगे बढ़ने का अवसर प्राप्त होगा।

  • राज्य में कुश्ती को बढ़ावा मिलेगा और पहलवानो को उनकी प्रतिभा दिखाने का अवसर दिया जाएगा।

  • राज्य में योजना के शुरू होने से युवाओं को प्रोत्साहन मिलेगा, जिससे उनको अपने भविष्य में आगे बढ़ने का मौका मिलेगा।

  • राज्य के पहलवानो को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलना अवसर मिलेगा और इसके साथ में उनको प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी।

बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना पात्रता

  • आवेदक छत्तीसगढ़ राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।

  • राज्य के पहलवान ही योजना में आवेदन करने के लिए पात्र माने जाएंगे।

  • आवेदक पहलवान श्रेणी का होना चाहिए।

बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज\

  • आधार कार्ड

  • बैंक खता विवरण

  • निवास प्रमाण पत्र

  • पासपोर्ट फोटो

  • मोबाइल नंबर

बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना आवेदन प्रक्रिया

राज्य के जो इच्छुक पहलवान खिलाडी योजना में आवेदन करना चाहते है, उनको अभी कुछ समय का और इंतजार करना होगा। क्यूंकि राज्य सरकार के द्वारा अभी सिर्फ योजना की घोषणा की गयी है।

योजना से सम्बंधित कोई भी पोर्टल या वेबसाइट के बारे में जानकारी नहीं दी गयी है। जैसे की रायपुर में कुश्ती अकादमी खोली जाएगी। तो उसके बाद ही योजना में आवेदन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना से सम्बंधित प्रश्न / उत्तर

बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना किस राज्य से सम्बंधित है ?

बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना छत्तीसगढ़ राज्य से सम्बंधित है।

योजना का लाभ किसे दिया जाएगा ?

 

अखाडा प्रोत्साहन योजना का लाभ राज्य के पहलवान खिलाडियों को दिया जाएगा।

बजरंगबली अखाड़ा प्रोत्साहन योजना को किसने शुरू किया है ?

प्रोत्साहन योजना को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भुपेसग बघेल जी के द्वारा नाग पंचमी के शुभ अवसर पर शुरू किया है।

पहलवानो की कुश्ती के लिए अखाडा कहाँ पर बनाया जाएगा ?

पहलवानो की कुश्ती के लिए अखाडा छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में बनाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *