क्या आर्ट्स वाले नेवी में जा सकते हैं | नेवी में दौड़ कितनी होती है

(इंडियन नेवी) भारतीय नौसेना क्या है (About Indian Navy in Hindi)

 इंडियन नेवी एक बहुआयामी बल (multidimensional force) है, जिस पर भारत के समुद्री क्षेत्र की अखंडता और अन्य हितों की रक्षा करने की पूरी जिम्मेदारी है। हमें मालूम होना चाहिये कि इंडियन नेवी आज दुनिया की पांचवें नंबर की जलसेना है। चार सौ साल से भी अधिक पुरानी गौरवशाली परंपरा की वाहक हमारी इंडियन नेवी में पचपन हजार से ज्यादा कर्मचारी कार्यरत हैं।

 

भारतीय नौसेना के प्रमुख एडमिरल या नौसेनाध्यक्ष कहलाते हैं, जिनका कार्यालय दिल्ली में स्थित है।

 भारतीय नौसेना का वर्तमान परिदृश्य –

आपको बता दें कि भारतीय नौसेना में दो ‘कमान’ हैं – प्रशिक्षण कमान और ऑपरेशनल कमान। इसमें कोच्चि स्थित दक्षिणी नौसेना कमान प्रशिक्षण कमान हैं, और मुंबई स्थित पश्चिमी नौसेना कमान व विशाखापट्टनम का पूर्वी नौसेना कमान ऑपरेशनल कमान हैं। इंडियन नेवी के इन तीनों कमानों के प्रमुख ‘वाइस एडमिरल’ (Vice Admiral) होते हैं, जिन्हें ‘फ्लैग ऑफ़ीसर कमांडर इन चीफ’ कहते हैं।

 

इंडियन नेवी के बड़े बेस मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, पोर्ट-ब्लेयर, कोच्चि, विशाखापट्टनम, गोवा और कारवार में स्थित हैं। भारतीय नौसेना के ये सबसे बड़े बेस या पोत  इसके दो बेड़ों के अंग हैं। बता दें कि इंडियन नेवी का पश्चिमी बेड़ा मुंबई और पूर्वी बेड़ा विशाखापट्टनम में स्थित है। ‘बेड़ा’ विभिन्न पोतों के ऐसे समूह को कहा जाता है जो किसी एक प्राधिकारी द्वारा संचालित किया जाता है।

इसके अलावा पोतों के फ्लोटिला, पनडुब्बियों के स्क्वाड्रन और तरह-तरह के एयरक्राफ्ट (aircraft) भी इंडियन नेवी का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं, जिन्हें इंडियन नेवी द्वारा कई नेवल स्टेशनों से operate किया जाता है।

इंडियन नेवी में कैसे जायें (How to Join Indian Navy) –

Indian Navy Me Kaise Jaye

अगर आप दसवीं कक्षा पास करने के बाद नेवी में जाना चाहते हैं, तो आपको MR और NMR के ज़रिये प्रयास करना चाहिये। क्योंकि यदि आपको दसवीं में कम marks मिलते हैं, तो भी आप इंडियन नेवी में जा सकते हैं। और अगर आप बारहवीं के बाद इंडियन नेवी join करना चाहते हैं, तो आपको SSR द्वारा इसकी कोशिश करनी चाहिये।

इंडियन नेवी में ‘करियर’ के तमाम आकर्षक अवसर उपलब्ध हैं। इंडियन नेवी यानी भारतीय नौसेना में शामिल होने के लिये आपको लिखित परीक्षा और शारीरिक परीक्षण के साथ ही साक्षात्कार में भी सफलता पानी होती है। यूपीएससी द्वारा भारतीय नौसेना में भर्ती के लिये NDA/NA कैडेट और CDSE स्नातक स्तर की परीक्षा आयोजित की जाती है। जिसमें सफलता के बाद SSB द्वारा आपका साक्षात्कार लिया जाता है। इसके बाद आप इंडियन नेवी में शामिल हो जाते हैं।

 

इंडियन नेवी में भर्ती की तैयारी कैसे करें –

भारतीय नेवी नियमित रूप से दसवीं, बारहवीं और स्नातक स्तर की भर्तियां निकालती रहती है। इंडियन नेवी ज्वाइन करने के क्रम में हमें इनको watch करते रहना चाहिये। भारतीय नौसेना से निकली हर भर्ती के लिये लाखों की संख्या में उम्मीदवार आवेदन करते हैं। इसलिये इंडियन नेवी के लिये होने वाले लिखित, शारीरिक, मेडिकल और साक्षात्कार सभी इम्तिहानों में सफलता के लिये आपको खास तौर से तैयारी करने की जरूरत होती है। यहां हम इसी विषय पर एक गहन चर्चा करेंगे।

1- इंडियन नेवी की लिखित परीक्षा –

इंडियन नेवी में भर्ती के लिये आयोजित होने वाली लिखित परीक्षा में बारहवीं दर्जे के स्तर तक सवाल आ सकते हैं। इसे ध्यान में रखते हुए ही आपको इंडियन नेवी की लिखित परीक्षा की तैयारी शुरू करनी चाहिये। इंडियन नेवी के लिए होने वाली लिखित परीक्षा में गणित, अंग्रेजी, विज्ञान, सामान्य ज्ञान और तर्क-शक्ति यानी reasoning से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

इंडियन नेवी के लिये होने वाली लिखित परीक्षा एक घंटे की होती है। सनद रहे कि भारतीय नौसेना में भर्ती के लिये होने वाली इस लिखित परीक्षा में minus-marking भी होती है। और प्रत्येक गलत ज़वाब पर आपको 0.25 अंकों का नुक़सान होता है।

2- इंडियन नेवी में भर्ती के लिये होने वाला Physical Test या शारीरिक परीक्षण –

अक्सर इंडियन नेवी में भर्ती के इच्छुक उम्मीदवार यह जानना चाहते हैं कि ‘नेवी में दौड़ कितनी होती है!’ भारतीय नौसेना में भर्ती के लिये होने वाले शारीरिक परीक्षण में दौड़ निकालना अहम होता है। इसके लिये आपको सात मिनट में 1.6 किलोमीटर दौड़ सकने की क्षमता पैदा करनी होगी। इसके साथ ही इंडियन नेवी में भर्ती के लिये होने वाले शारीरिक परीक्षण के दौरान आपको बीस squats यानी उठक-बैठक, और दस दंड-बैठक भी लगाकर दिखाना होता है।

शारीरिक परीक्षण या ‘पीएफटी’ के बाद इंडियन नेवी में भर्ती के लिये होने वाले इम्तिहानों में नंबर आता है ‘मेडिकल-टेस्ट’ का। आपको बता दें कि वही उम्मीदवार शारीरिक परीक्षण में शामिल हो पाते हैं, जिन्होंने उससे पहले होने वाली लिखित परीक्षा ‘पास’ की हो। और उन्हीं अभ्यर्थियों का मेडिकल-टेस्ट होता है जिन्होंने इन दोनों लिखित और शारीरिक परीक्षाओं में सफलता प्राप्त की हो।

3- इंडियन नेवी में भर्ती के लिये मेडिकल-टेस्ट कैसे होता है –

भारतीय नौसेना में भर्ती के लिये चिकित्सकीय परीक्षण या मेडिकल टेस्ट (medical-test) के मानक अलग-अलग रैंकिंग की भर्तियों के लिये अलग-अलग हैं। इंडियन नेवी में भर्ती के लिये होने वाला मेडिकल-परीक्षण कुशल मिलिट्री डॉक्टरों  (Military Doctors) द्वारा किया जाता है।

  •  
  •  

इंडियन नेवी में भर्ती के लिये होने वाले मेडिकल परीक्षण में अनफिट होने पर क्या करें –

इंडियन नेवी के लिये होने वाला मेडिकल टेस्ट नौसैनिकों के लिये लागू वर्तमान विनियमन के के अनुसार होता है। अस्थाई मेडिकल-टेस्ट में अनफिट होने पर आप ज्यादा से ज्यादा इक्कीस दिनों के भीतर military hospital में specialist से वापस अपना physical checkup करवा सकते हैं। ख्याल रखें कि इक्कीस दिन बीत जाने पर इस तरह के मामलों की कोई सुनवाई नहीं होती।

जिन अभ्यर्थियों को इंडियन नेवी के लिये होने वाले मेडिकल परीक्षण में ‘स्थाई’ रूप से अनफिट घोषित कर दिया जाता है, वो भी इक्कीस दिनों के अंदर किसी मिलिटरी अस्पताल में जाकर सरकारी खजाने में चालीस रूपए का military recievable order यानी ‘एम आर’ बनवाकर डॉक्टर से पुनः मेडिकल परीक्षण की मांग कर सकते हैं। ध्यान रहे कि निर्दिष्ट military hospital के अलावा किसी दूसरे ‘मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट’ (medical fitness certificate) पर इंडियन नेवी में भर्ती के लिये होने वाले मेडिकल टेस्ट के दौरान कोई विचार नहीं किया जाता।

इंडियन नेवी में भर्ती की तैयारी के लिये कुछ जरूरी टिप्स –

  • इंडियन नेवी में भर्ती के लिये आपको नियमित रूप से दौड़ का अभ्यास जरूर करना चाहिये।

  • खान-पान और फिटनेस का खास ख्याल रखें।

  • रोज नियमपूर्वक व्यायाम करने की आदत डालें।

  • परीक्षा के लिये पिछले कुछ वर्षों में आये प्रश्न-पत्रों का अवलोकन ज़रूर करें।

  • आत्मविश्वास बनाए रखें।

इंडियन नेवी में भर्ती होने के लिये आवश्यक योग्यता –

  भारतीय नौसेना यानी इंडियन नेवी में भर्ती होने वाले अभ्यर्थियों के लिये जरूरी अर्हता इस प्रकार है –

  1. शैक्षिक योग्यता – इंडियन नेवी में भर्ती के इच्छुक उम्मीदवारों को बारहवीं पास होना चाहिये। इसके साथ ही भारतीय नौसेना की भर्ती-परीक्षा में शामिल होने के लिये अभ्यर्थियों को अंग्रेजी विषय में कम से कम पचास फीसदी, और भौतिक विज्ञान व रसायन विज्ञान में सत्तर-सत्तर प्रतिशत अंक लाना जरूरी होता है।

  2. शारीरिक योग्यता – इंडियन नेवी में भर्ती के शारीरिक मापदंडों में पुरुषों की लंबाई 157 सेंटीमीटर और महिलाओं की कम से कम 152 सेंटीमीटर होनी चाहिये। इसके अलावा भारतीय नौसेना में शामिल होने के लिये अभ्यर्थियों की देखने की क्षमता 6/6 होनी चाहिये। साथ ही आपकी छाती का विस्तार, यानी छाती का पुलाव कम से कम पांच सेंटीमीटर होना चाहिये। इसका मतलब है कि अगर आपकी छाती का सामान्य माप अस्सी सेंटीमीटर है, तो फुलाने पर कम से कम पचासी सेंटीमीटर हो जानी चाहिये।

  3. अन्य जरूरी योग्यतायें – इंडियन नेवी में भर्ती होने के लिये आपको भारत का वैध नागरिक होना चाहिये। शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ होने के साथ ही सुनिश्चित करें कि आपको हड्डियों का कोई रोग न हो, और पानी से डर न लगता हो।

इंडियन नेवी में भर्ती के लिये आवेदन प्रक्रिया –

 इंडियन नेवी में शामिल होने के लिये आप भारतीय नौसेना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन-पत्र भरने की प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं। इंडियन नेवी की इस आधिकारिक वेबसाइट का नाम है – www.joinindiannavy.gov.in । यहां से आप इंडियन नेवी में भर्ती के लिये आवेदन कर सकते हैं।

भारतीय नौसेना में भर्ती के लिये हर साल अलग-अलग rank की भर्तियां निकलती हैं। और उसी के अनुसार उनके आवेदन-पत्र भी भिन्न-भिन्न होते हैं। इंडियन नेवी में जाने के इच्छुक अभ्यर्थी दसवीं, बारहवीं या स्नातक स्तर पर अलग-अलग पदों की भर्ती के लिये आवेदन कर सकते हैं। इंडियन नेवी की official website से आप भारतीय नौसेना में भर्ती से संबंधित आवेदन-पत्र, प्रवेश-पत्र यानी admit-card, परीक्षा-कार्यक्रम और परिणाम (result) भी देख सकते हैं।

तो दोस्तों, हमने देखा कि इंडियन नेवी में भर्ती होने के लिये अगर आप मेहनत और लगन से सही रणनीति के साथ तैयारी करते हैं, तो सफलता मिलती ही है। इंडियन नेवी में जाने के लिए आपको शुरुआती स्तर से ही अंग्रेजी, रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। और इसके साथ ही अगर आप अपनी physical fitness का भी पर्याप्त ख़्याल रखते हैं, तो आपको भारतीय नौसेना की नौकरी मिलने में कोई दिक्कत नहीं आएगी।

लेकिन ऐसे में सवाल उठता है, कि क्या आर्ट्स वाले नेवी में जा सकते हैं! अगर हां, तो ‘आर्ट्स स्ट्रीम’ से पढ़ाई करने वाले छात्रों को इंडियन नेवी में जाने के लिए क्या करना चाहिये!

आर्ट्स वाले नेवी में कैसे जायें –

अब तक की चर्चा में हमने देखा कि इंडियन नेवी में भर्ती के लिये होने वाली परीक्षाओं में शामिल होने के लिये आपको अंग्रेजी, रसायन विज्ञान और भौतिक विज्ञान जैसे विषयों में अच्छे अंक लाने होते हैं। और आर्ट्स स्ट्रीम में ऐसे विषय बहुधा नहीं पढ़ाये जाते। इसलिये ज़ाहिर है कि आर्ट्स वाले छात्रों के इंडियन नेवी में जाने के मार्ग में कुछ अवरोध जरूर मौजूद हैं।

लेकिन भारतीय नौसेना में नौकरी करने के इच्छुक ‘आर्ट्स’ के छात्रों को भी निराश होने की जरूरत नहीं। बल्कि वो ‘एमए’ यानी मास्टर-डिग्री complete करने के बाद अच्छी से अच्छी ranks के लिये इंडियन नेवी में नौकरी हेतु आवेदन कर सकते हैं।

हालांकि अगर आपने बारहवीं ‘आर्ट्स’ के विषयों के साथ की है और इंडियन नेवी में जाना चाहते हैं, तो आपको नाविक और कैडेट जैसे पदों के लिये आवेदन करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *