इंडस वैली सिविलाइजेशन (IVC) का प्रमुख स्थान

इंडस वैली सिविलाइजेशन (IVC) का प्रमुख स्थान भारतीय उपमहाद्वीप के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र में था, जिसमें वर्तमान दिन के पाकिस्तान और उत्तर-पश्चिम भारत के कुछ हिस्से शामिल थे। यह सभ्यता इंडस नदी और उसकी प्रमुख सहायक नदियों के किनारे फैली थी। यहां इंडस वैली सिविलाइजेशन के मुख्य स्थलों की कुछ विशेषताएँ हैं:

  1. मोहेंजो-दाड़ो: मोहेंजो-दाड़ो IVC की सबसे प्रसिद्ध और सुरक्षित खुदाई स्थलों में से एक है। यह पाकिस्तान के सिंध प्रांत में स्थित है। इस शहर का निर्माण लगभग 2500 ईसा पूर्व हुआ था और इसकी विशेषता अच्छी योजना वाली सड़कें, स्वच्छता व्यवस्था, और बहुलमंजिले घरों में थी।

  2. हड़प्पा: हड़प्पा IVC का एक और महत्वपूर्ण खुदाई स्थल है। यह पाकिस्तान के पंजाब क्षेत्र में स्थित है। हड़प्पा और मोहेंजो-दाड़ो IVC के दो राजधानियों के रूप में मानी जाती हैं। हड़प्पा भी उन्नत शहरी योजना और जटिल समाज की दिशा में अभिप्रेत था।

  3. लोथल: लोथल गुजरात, भारत में स्थित है, और यह IVC का एक ख़ास खुदाई स्थल है। इसके डॉकयार्ड के लिए प्रसिद्ध है, जिससे प्रकट होता है कि लोथल को समुद्र का पहुँच था और समुद्री व्यापार में शामिल था।

  4. कालीबगन: कालीबगन राजस्थान, भारत में स्थित है। इसमें अनूठी हवान कुंड और हल की खेत के पैटर्न हैं, जो समय की कृषि प्रथाओं की दिशा में दर्शाते हैं।

  5. धोलाविरा: धोलाविरा गुजरात, भारत में एक खुदाई स्थल है। इसकी विस्तारित जल प्रबंधन प्रणाली, बड़े सागर, और मजबूत किले के लिए प्रसिद्ध है।

  6. रखिगढ़ी: रखिगढ़ी IVC के सबसे बड़े खुदाई स्थलों में से एक है और यह हरियाणा, भारत में स्थित है। यह अब भी खोदाई के तहत है, और चल रहे अनुसंधान से सभ्यता के विभिन्न पहलुओं की ओर प्रकाश डाल रहे हैं।

इंडस वैली सिविलाइजेशन के इन मुख्य स्थलों ने इस प्राचीन सभ्यता की उन्नत शहरी योजना, संस्कृति, और समाज के बारे में मूल्यमान खुदाई साक्षात्कार प्रदान किया है। वे इस सभ्यता के महत्व और विशेषताओं को समझने में महत्वपूर्ण रोल निभाते हैं।

ALL Indus Valley Civilization
Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *